- Advertisement -spot_img
5.5 C
Shimla
Sunday, March 26, 2023

अनुराग ठाकुर ने “योग शिक्षण व प्रबंधन“ पुस्तक का किया विमोचन

Must read

उज्जवल हिमाचल। नादौन

आज दुनिया में अनेक चुनोतियाँ उभरकर सामने आ रही हैं। जिनमें एक सबसे बड़ी चुनौती है- आरोग्य व स्वास्थ्य। इन दोनों के लिए जरूरी है योग, और जरुरी है योग को सीखना-सीखाना, पढ़ना-पढ़ाना आदि। इन्ही को लेकर अनुराग ठाकुर ने डॉ जी. डी. शर्मा के सानिध्य में योग में कार्यरत योगी विकास व अमित ठाकुर द्वारा लिखित पुस्तक का विमोचन किया।

पुस्तक के भूमिका लेखक अमित ठाकुर व योगी ने बताया कि आरोग्य व स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए सरकार भी अनेक अभियान व कार्यक्रम चलाती हैं। जिनमें मोदी सरकार ने भी “फिट इंडिया“ व “खेलो इंडिया“ जैसे अनेक अभियान चलाए हैं। इसके लिए अनेक संस्थाएँ, स्कूल व विश्वविद्यालयों आदि में योग शिक्षण, योग प्रशिक्षण आदि कार्यक्रम चलाये जाते हैं। इन्ही को ध्यान में रखते हुए हम दोनों ने संयुक्त प्रयासों से “योग शिक्षण व प्रबंधन“ नामक पुस्तक लिखी। जिसका विमोचन हिमाचल प्रदेश से आज केन्द्रीय सूचना व प्रसारण और युवा कार्यक्रम व खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने किया।

यह भी पढ़ेंः राष्ट्रीय महिला टीम शतरंज प्रतियोगिता में हिमाचल की पलक ने प्राप्त किया तीसरा स्थान

योगी ने बताया कि भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के उद्बोधन के उपरांत सन 2014 में संयुक्त राष्ट्र संघ में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने का प्रस्ताव पारित हुआ और सन 2015 में 21 जून को पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। इसके उपरांत स्वास्थ्य के क्षेत्र में योग की मांग भी तेजी से बड़ी हैं वहीं कोरोना महामारी काल ने भी योग के महत्व पर मोहर लगा दी।

आरोग्य व स्वास्थ्य के लिए योग अत्यंत जरूरी है उतना ही योग मानव के पोटेंशियल डेवलोपमेन्ट के लिए भी महत्वपूर्ण है। इसके लिए प्रमाणित योग कोच, योग ट्रेनर, योग शिक्षकों की भी मांग बढ़ रही है। योग की तेजी से बढ़ती इसी मांग को देखते हुए “इंटीग्रेटेड अप्रोच टू टीचिंग एंड लर्निंग ऑफ योगा“ अवधारणा पर यह पुस्तक लिखी गई है।

अमित ठाकुर ने जानकारी देते हुए बताया कि अनुराग ठाकुर द्वारा पुस्तक में शुभसंदेश पत्र लिखा गया है वहीं, प्राक्कथन हमारे गुरुवर हिमाचल विश्वविद्यालय के पूर्व योगविभागध्यक्ष व पतञ्जलि विश्विद्यालय के पूर्व डीन डॉ. जी.डी. शर्मा, शुभाशंसा अमेरिका में योग विसेसज्ञ रहें डॉ सोमवीर आर्य, हरियाणा सी.आर.एस.यू. के डॉ. विरेन्द्र सिंह, पतंजलि विश्वविधालय के डॉ. नरेंद्र राणा ने लिखी हैं। इस पुस्तक के विमोचन के साथ ही योग क्षेत्र में इंटीग्रेटेड अप्रोच पर आज से पहली पुस्तक राष्ट्र व पाठकों के लिए उपलब्ध होगी।

संवाददाताः एमसी शर्मा

हिमाचल प्रदेश की ताजातरीन खबरें देखने के लिए उज्जवल हिमाचल के फेसबुक पेज को फॉलो करें।

- Advertisement -spot_img

More articles

- Advertisement -spot_img

Latest News

%d bloggers like this: