सुख सरकार की फिल्म 14 महीने में फ्लॉप, पार्ट टू तो भूल जाएं : जयराम

उज्जल हिमाचल। शिमला

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के समक्ष भाजपा में शामिल हुए पूर्व विधायक और कांग्रेस नेता सुभाष मंगलेट ने आज शिमला में दलबल के साथ भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली है। इस दौरान जुब्बल कोटखाई से पूर्व ज़िला परिषद सदस्य शकुंतला ने भी भाजपा का दामन थामा। पूर्व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राजीव बिंदल ने दोनों नेताओं और उनके समर्थकों का पार्टी में स्वागत किया।

भाजपा में शामिल होते ही सुभाष मंगलेट ने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए कहा कि कांग्रेस देश विरोधी काम कर रही है और भाजपा के कार्यकाल में राम मंदिर निर्माण और धारा 370 जैसे साहसिक कार्य हुए हैं, जिनसे प्रभावित होकर भाजपा में शामिल हुए हैं।कांग्रेस का वीआईपी कल्चर खत्म नहीं हो रहा है पार्टी नेता 7 स्टार से नीचे उतर नही रहे। पार्टी का पतन हो रहा है और जो ईमानदार लोग थे वो पार्टी छोड़ चुके हैं और कुछ लोग आने वाले दिनों में छोड़ने वाले हैं। कांग्रेस में कार्यकर्त्ता नहीं हैं सभी नेता बन गए हैं।

देश में कांग्रेस सिकुड़ रही 

इस मौके पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राजीव बिंदल ने कहा कि देश में कांग्रेस सिकुड़ रही है। मोरार जी देसाई से पार्टी छोड़ने का सिलसिला शुरू हुआ खत्म होने के नाम नहीं के रहा है। कांग्रेस अब केवल राहुल और सोनिया गांधी की पार्टी बनकर रह गई है। हिमाचल में भी कांग्रेस में लोग घुटन महसूस कर रहे हैं और भाजपा में शामिल हो रहें हैं।सुभाष मंगलेट के पार्टी में शामिल होने से चौपाल विधानसभा क्षेत्र से मजबूती मिलेगी। चारों लोकसभा सीट के साथ साथ विधान सभा उपचुनाव भी भाजपा जीतेगी।

मुद्दों पर भाजपा चुनाव लड़ रही

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए जयराम ठाकुर ने कहा कि मुद्दों पर भाजपा चुनाव लड़ रही है और ओछी राजनीति कॉन्ग्रेस के लोग कर रहे हैं। कांग्रेस में बिखराव की स्थिति है और कांग्रेस का स्तंभ रहें लोग बीजेपी के शामिल हों रहें हैं। कॉन्ग्रेस के पास नेतृत्व और नीति नही है जबकि भाजपा के पास नेतृत्व और नीति दोनों ही है जिसके परिणामस्वरूप भाजपा तीसरी बार केन्द्र में सरकार बनाने वाली है। हिमाचल प्रदेश में लोकसभा की चारों सीट के साथ छ उप चुनाव भी भाजपा जीतेगी। प्रदेश में सरकार और संगठन तार तार हो गया है। सुख की सरकार की फिल्म 14 महीनों में ही फ्लॉप हो गईं है।आनन्द शर्मा चुनाव लडना नही चाहते थे लेकिन अब पांव लड़खड़ा रहें हैं मजबूरी में चुनाव लड़ रहे हैं।

ब्यूरो रिपोर्ट शिमला

हिमाचल प्रदेश की ताजातरीन खबरें देखने के लिए उज्जवल हिमाचल के फेसबुक पेज को फॉलो करें

Please share your thoughts...