Home Breaking News उपलब्धि : KVK सुंदरनगर ने हासिल किया बेस्ट प्रेजेंटेशन अवार्ड

उपलब्धि : KVK सुंदरनगर ने हासिल किया बेस्ट प्रेजेंटेशन अवार्ड

सर्टिफिकेट आफ एक्सिलेंस से किया जाएगा सम्मानित

उमेश भारद्वाज। सुंदरनगर

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद(आईसीएआर) नई दिल्ली के द्वारा आयोजित वर्चुअल वार्षिक कार्यशाला में कृषि विज्ञान केंद्र सुंदरनगर को जोन नंबर-1 में बेस्ट प्रेजेंटेशन अवार्ड से नवाजा गया है। इसके अंतर्गत केवीके सुंदरनगर को सर्टिफिकेट आफ एक्सिलेंस प्रदान किया जाएगा। बता दें कि कृषि प्रोद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान जोन-1 केे अंतर्गत पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उतराखंड 3
राज्य और 2 केंद्रशासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर व लदाख सहित कुल 67 केवीके आते हैं।

केवीके सुुंदरनगर के प्रभारी एवं वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. पंकज सूद ने कहा कि दो दिन तक चली इस कार्यशाला में 2019-20 में कृषि विज्ञान केंद्रों द्वारा किए गए कार्याें की समीक्षा और आगामी 2020-21 में किए जाने वाले कार्याें की रूपरेखा पर चर्चा की गई। आनलाइन रिप्रेजेंटशन के माध्यम से अन्य 66 जिला स्तरीय केवीके को पछाड़ते हुए प्रथम स्थान हासिल किया है। उन्होंने कहा कि इस कार्यशाला के दौरान मुख्य रूप से कोविड-19 के दौरान अधिक से अधिक किसानों के मध्य कृषि संबंधी जागरूकता प्रदान करने को अधिमान दिया गया।

डा. पंकज सूद ने इस उपलब्धी पर कहा कि चौधरी सरवण कुमार हिमाचल प्रदेश कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर तथा कृषि प्रोद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान जोन-1 की टीम के मार्गदर्शन से ही यह संभव हो पाया है। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी कृषि विज्ञान केंद्र किसानों व कृषि के उत्थान के लिए कार्य करता रहेगा। इस कार्यशाला में कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कैलाश चौधरी ने बतौर मुख्यातिथि तथा भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली के महानिदेशक डा. त्रिलोचन मोहापात्रा ने वशिष्ट अतिथि के रूप में शिरकत की।

वहीं भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद(आईसीएआर) नई दिल्ली के उप महानिदेशक, कृषि विस्तार डा. एके सिंह,एडीजी डा.रंधीर सिंह, डा. वीपी चैहल सहित सभी 7 कृषि विश्वविद्यालयों के कुलपति, निदेशक प्रसार शिक्षा, कृषि प्रोद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जोन-1 के निदेशक डा. राजबीर सिंह ने भी इस कार्यशाला के दौरान परिचर्चा की।

पहले भी अर्जित कर चुके हैं सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार
केवीके सुंदरनगर द्वारा वर्ष 2012 में भी केंद्रीय सरकार और भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली द्वारा जोन लेवल पर आईसीआर बेस्ट केवीके और वर्ष 2017 में पंडित दिनदयाल उपाध्याय कृषि विज्ञान प्रोत्साहन पुरस्कार से नवाजा जा चुका है। इन उपलब्धियों को केवीके सुंदरनगर द्वारा देश के प्रधानमंत्री और कृषि मंत्री से प्राप्त किया गया था।

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

लाेगाें के लिए परेशानी का सबब बनी ट्रैफिक लाइट

कार्तिक। बैजनाथ बैजनाथ में ट्रैफिक लाइट का पिछले कई माह से बंद होना आम जनमानस के लिए परेशानी का सबब बनी हुई है। यह बात...

स्वतंत्रता दिवस पर विधानसभा अध्यक्ष फहराएंगे ध्वज

उज्जवल हिमाचल ब्यूराे। धर्मशाला 74 वां जिला स्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह शनिवार 15 अगस्त को धर्मशाला के पुलिस ग्राउंड में आयोजित किया जाएगा। इसमें विधानसभा...

कोरोना पर नेता प्रतिपक्ष की बातें झूठ का पुलिंदा: राकेश पठानिया

वन मंत्री ने कहा, मुकेश अग्निहोत्री के आरोपों में सच्चाई नहीं अपनी किसी बात पर कायम नहीं विपक्ष उज्जवल हिमाचल। धर्मशाला वन मंत्री राकेश पठानिया ने कहा...

मृतिका को न्याय दिलाने के लिए आगे आई सोसायटी

मुनीष। पालमपुर पुलिस थाना अंब के तहत ग्राम पंचायत जुबेहड़ के गांव मंझार में नवविवाहिता की मौत के मामले में मृतिका को न्याय दिलाने के...

Related News

लाेगाें के लिए परेशानी का सबब बनी ट्रैफिक लाइट

कार्तिक। बैजनाथ बैजनाथ में ट्रैफिक लाइट का पिछले कई माह से बंद होना आम जनमानस के लिए परेशानी का सबब बनी हुई है। यह बात...

स्वतंत्रता दिवस पर विधानसभा अध्यक्ष फहराएंगे ध्वज

उज्जवल हिमाचल ब्यूराे। धर्मशाला 74 वां जिला स्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह शनिवार 15 अगस्त को धर्मशाला के पुलिस ग्राउंड में आयोजित किया जाएगा। इसमें विधानसभा...

कोरोना पर नेता प्रतिपक्ष की बातें झूठ का पुलिंदा: राकेश पठानिया

वन मंत्री ने कहा, मुकेश अग्निहोत्री के आरोपों में सच्चाई नहीं अपनी किसी बात पर कायम नहीं विपक्ष उज्जवल हिमाचल। धर्मशाला वन मंत्री राकेश पठानिया ने कहा...

मृतिका को न्याय दिलाने के लिए आगे आई सोसायटी

मुनीष। पालमपुर पुलिस थाना अंब के तहत ग्राम पंचायत जुबेहड़ के गांव मंझार में नवविवाहिता की मौत के मामले में मृतिका को न्याय दिलाने के...

NPS कर्मियाें ने की पुरानी पेंशन बहाली की मांग

उमेश भारद्वाज। सुंदरनगर प्रदेश में वर्ष 2003 से पूर्व पेंशन नियम बहाल करने के लिए एनपीएस कर्मचारी संघ ने क्षेत्र की सभी पंचायत प्रधानों व...
%d bloggers like this: