आयुष्मान योजना के तहत फर्जी कार्ड बनाने पर महिला के खिलाफ दर्ज हुआ केस , 69 लोगों को बना चुकी है शिकार

आयुष्मान योजना के तहत फर्जी कार्ड बनाने पर महिला के खिलाफ दर्ज हुआ केस , 69 लोगों को बना चुकी है शिकार

उज्जवल हिमाचल। ऊना
विजिलेंस थाना ऊना में एक चिकित्सक की शिकायत पर आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत फर्जी कार्ड बनाने पर एक महिला के खिलाफ मामला दर्ज किया गया हैं। विजिलेंस विभाग की टीम ने जांच करने पर पाया कि इन कार्डों में से 45 कार्ड नंगल, पंजाब की महिला ने आरोग्य मित्र और 24 कार्ड अलग-अलग आइडी से बनाए हैं।

विजिलेंस थाना ऊना में एक निजी चिकित्सक डॉ. सतेंद्र सिंह ने शिकायत सौंपी थी कि एक निजी अस्पताल के प्रबंधक व फर्जी कार्ड बनाने को लेकर जांच की जाए। विभागीय टीम में शामिल अधिकारियों ने इस मामले की गहनता से जांच की। विजिलेंस विभाग की टीम ने जांच के दौरान उक्त निजी अस्पताल और संबंधित विभाग से योजना के संबंध में जरूरी रिकार्ड प्राप्त किया, जिसमें 69 लोगों के कार्ड फर्जी पाए गए।

यह भी पढ़ेंः भारत के क्रिकेटर के एल राहुल व अथिया शेट्टी बंधे शादी के बंधन में

विजिलेंस टीम ने जब इन कार्डधारकों में से कुछ को जांच में शामिल किया तो उन्होंने बताया कि वह केंद्र सरकार की ओर से जारी सूची में आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के कार्ड धारक हैं। इस योजना के तहत हिमाचल प्रदेश के लगभग पांच लाख पात्र परिवार, लगभग 22 लाख लोग शामिल हैं।
आरोपित महिला ने उनसे बिना रसीद दिए 2000 से 2500 रुपये भी वसूल किए हैं। वहीं, विजिलेंस विभाग ऊना के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धर्मचंद वर्मा ने बताया कि आरोपित महिला किरण सोनी पत्नी मनोज कुमार निवासी रेलवे रोड नंगल, नजदीक जवाहर मार्केट, तहसील श्रीआनंदपुर जिला रोपड, पंजाब के खिलाफ मामला दर्ज करके आगामी कार्रवाई शुरू कर दी हैं।

संवाददाताः ब्यूरो ऊना

हिमाचल प्रदेश की ताजातरीन खबरें देखने के लिए उज्जवल हिमाचल के फेसबुक पेज को फॉलो करें।

Please share your thoughts...