एक लाख सरकारी नौकरियां देने पर कांग्रेस का बड़ा फैसला

Congress's big decision on giving one lakh government jobs

उज्जवल हिमाचल। शिमला

हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा रोजगार को लेकर बनाई गई सब कमेटी की बैठक राज्य सचिवालय में संपन्न हुई। सरकार ने सत्ता में आते समय एक लाख सरकारी नौकरियां देने का वादा किया था इसी को लेकर सब कमेटी बनाई गई है। हर्षवर्धन चौहान की अध्यक्षता में हुई बैठक में विभिन्न विभागों से 15 दिन के अंदर विभिन्न विभागों में खाली पड़े पदों की रिपोर्ट मांगी गई और साथ ही उन पदों की जानकारी भी मांगी गई जिन पदों पर भर्ती के लिए सूचना हुई लेकिन भर्ती नहीं हुई। इसके अलावा बैठक में भर्तियों की वजह से सरकार पर पड़ने वाले आर्थिक बोझ का भी ब्योरा मांगा गया। कमेटी में हर्षवर्धन चौहान के साथ रोहित ठाकुर और जगत सिंह नेगी भी शामिल है, हालांकि जगत सिंह नेगी बैठक से नदारद रहे। बैठक में सरकारी दफ्तरों में भर्तियों पर विचार विमर्श हुआ।

यह भी पढ़ेंः जवाहर नवोदय विद्यालय पंडोह में छठी कक्षा में प्रवेश के लिए ऑनलाईन करें आवेदन

बैठक के बाद उद्योग मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने जानकारी देते हुए कहा कि सभी विभागों में खाली पड़े पदों की जानकारी मांगी गई है साथ ही ऐसे पदों की जानकारी दी गई है जिन पदों पर भर्ती के लिए अधिसूचना हुई मगर पदों पर भर्ती नहीं हुई। इसके अलावा हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि 5 साल में एक लाख नौकरी देने का वादा है जिसे पूरे कार्यकाल में बांटे तो हर साल 20 हज़ार नौकरियां दी जाएगी। इसके लिए भी ने विभागों से पूछा गया है कि इसकी वजह से हर वर्ष कितने रुपए का आर्थिक बोझ पड़ेगा। उद्योग मंत्री ने कहा कि विभागों से 15 दिनों में रिपोर्ट मांगी गई है और इसको लेकर ब्रॉड आउट लाइन तैयार कर ली गई है।

संवाददाताः ब्यूरो शिमला

हिमाचल प्रदेश की ताजातरीन खबरें देखने के लिए उज्जवल हिमाचल के फेसबुक पेज को फॉलो करें।

Please share your thoughts...