Sunday, January 24, 2021
Home Lifestyle अनोखा देशः शव दफनाने के लिए खरीदनी पड़ती है करोड़ों की जमीन

अनोखा देशः शव दफनाने के लिए खरीदनी पड़ती है करोड़ों की जमीन

उज्जवल हिमाचल डेस्क…

 

आमतौर पर शवों को दफनाने के लिए जगह-जगह पर कब्रगाहें बनी होती हैं। शायद ही कहीं इसके लिए पैसे लिए जाते हों। लेकिन दुनिया में एक देश ऐसा भी है, जहां शव को दफनाने के लिए भी जमीन खरीदनी पड़ती है। वैसे आपको ये बात थोड़ी अजीब जरूर लग रही होगी, लेकिन ये बिल्कुल सही है। इतना ही नहीं हैरानी की बात तो ये है कि यहां जमीन के एक छोटे से टुकड़े की कीमत भी करोड़ों में है।

 

दरअसल, हांगकांग में जमीन का भाव काफी हैं। यहां के लोगों को शव दफनाने के लिए जमीन के एक छोटे से टुकड़े के लिए करोड़ों रुपये चुकाने पड़ते हैं। जमीनें महंगी होने की वजह से ही यहां लोगों ने अब लाशों को दफनाने के बजाय जलाना शुरू कर दिया है। लेकिन इसमें भी एक समस्या है और वो ये है कि लोग शव को जलाने के बाद उसके भस्म को दफनाना चाहते हैं।

जमीन की बढ़ती कीमतों की वजह से परेशान लोग शव के भस्म को सरकारी लॉकरों में रख रहे हैं। हालत ये है कि हांगकांग में करीब चार लाख से भी अधिक लोगों के भस्म अभी भी दफनाए जाने के इंतजार में हैं और वो सब लॉकरों में रखे गए हैं। इन लॉकरों के लिए लोगों को किराया चुकाना पड़ता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सरकारी लॉकरों में अस्थियां रखने के लिए लोगों को सालाना करीब 22 रुपये चुकाने पड़ते हैं, लेकिन यहां भी एक बड़ी समस्या है। लॉकरों के लिए भी लोगों को चार साल तक इंतजार करना पड़ता है।

 

सरकारी लॉकरों में जगह न होने की वजह से लोग यहां निजी लॉकरों में भी अस्थियां रखने लगे हैं। ये लॉकर किसी जूते के डिब्बे के बराबर होते हैं, जिसमें थोड़ी ही जगह होती है। हांगकांग में जमीन के दाम बढ़ने की वजह से लोग काफी परेशानी का सामना कर रहे हैं।

 

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

जीते हुए उम्मीदवारों पर भाजपा-कांग्रेस कर रही अपना-अपना दावा

नरेश धीमान। योल ग्रामीण संसद के चुनाव संपन्न हो चुके हैं एक तरफ जीते हुए उम्मीदवारों पर भाजपा-कांग्रेस के कई बड़े नेता अपने-अपने दावे कर...

इंडिपेंडेंट स्कूल एसोसिएशन स्कूल खोलने को तैयार, सरकार को बताएंगे समस्याएं

उज्जवल हिमाचल। कांगड़ा पहली फरवरी से सरकार स्कूल खोलने जा रही है। वहीं कोरोना के दौरान किस तरह से स्कूल खोले जाएं इस पर इंडिपेंडेंट...

नवनियुक्त प्रधानाें और उपप्रधानाें काे एसडीएम ने दिलवाई शपथ

नीरज शर्मा। नगरोटा बगवां आज नगरोटा बगवां के मिनी सचिवालय नवनियुक्त चुने गए प्रधान और उपप्रधान का शपथ समारोह आयोजित हुआ। समारोह में उपमंडल अधिकारी...

भारत और इंग्लैंड के बीच 12 मार्च से हाेगी टी-20 सीरीज

उज्जवल हिमाचल। नई दिल्ली देश में क्रिकेट फैंस के लिए एक बड़ी सकारात्मक बात यह है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) भारत और इंग्लैंड...

Related News

जीते हुए उम्मीदवारों पर भाजपा-कांग्रेस कर रही अपना-अपना दावा

नरेश धीमान। योल ग्रामीण संसद के चुनाव संपन्न हो चुके हैं एक तरफ जीते हुए उम्मीदवारों पर भाजपा-कांग्रेस के कई बड़े नेता अपने-अपने दावे कर...

इंडिपेंडेंट स्कूल एसोसिएशन स्कूल खोलने को तैयार, सरकार को बताएंगे समस्याएं

उज्जवल हिमाचल। कांगड़ा पहली फरवरी से सरकार स्कूल खोलने जा रही है। वहीं कोरोना के दौरान किस तरह से स्कूल खोले जाएं इस पर इंडिपेंडेंट...

नवनियुक्त प्रधानाें और उपप्रधानाें काे एसडीएम ने दिलवाई शपथ

नीरज शर्मा। नगरोटा बगवां आज नगरोटा बगवां के मिनी सचिवालय नवनियुक्त चुने गए प्रधान और उपप्रधान का शपथ समारोह आयोजित हुआ। समारोह में उपमंडल अधिकारी...

भारत और इंग्लैंड के बीच 12 मार्च से हाेगी टी-20 सीरीज

उज्जवल हिमाचल। नई दिल्ली देश में क्रिकेट फैंस के लिए एक बड़ी सकारात्मक बात यह है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) भारत और इंग्लैंड...

ट्रैक्टर रैली निकालने पर अड़े किसान, आज शाम दिल्ली पुलिस करेगी बड़ा ऐलान

उज्जवल हिमाचल। डेस्क नए कृषि कानून के विरोध में लगभग दो महीने से किसान धरने पर बैठे हैं। कुछ दिनों पहले किसानों ने 26 जनवरी...

Please share your thoughts...

%d bloggers like this: