Monday, November 30, 2020
Home Slider अमेरिका और चीन के बीच शीत युद्ध की दस्‍तक

अमेरिका और चीन के बीच शीत युद्ध की दस्‍तक

उज्जवल हिमाचल। डेस्क

ताइवान को लेकर अमेरिका और चीन के बीच तनातनी चरम पर है। संयुक्‍त राज्‍य अमेरिका में भले ही सत्‍ता परिवर्तन को लेकर सियासी संकट चल रहा हो, लेकिन चीन को लेकर उसकी धारणा साफ है। अमेरिका ने हाल ही में चीन की वायु रक्षा क्षेत्र में बमवर्षक विमान भेज कर उसे सावधान किया था। अमेरिका का यह कदम चीन को खुली चेतावनी थी। अमेरिका ने साफ संदेश दिया कि चीन अपनी हरकतों से बाज आए नहीं, तो अमेरिकी सेना की क्षमता उसके घर के अंदर जाकर मारने की क्षमता रखती हैं।

खास बात यह है कि अमेरिकी विमान ऐसे वक्‍त चीन की हवाई सीमा में प्रवेश किए जब चीन एक नौसना अभ्‍यास कर रहा है। दोनों देशों के बीच तनाव इस कदर है कि एक नए शीत युद्ध को जन्‍म दे सकता है। आइए हम आपको बताते हैं कि ताइवान को लेकर अमेरिका और चीन के बीच क्‍या है फसाद की जड़। ताइवान के ऊपर चीन के प्रभुत्‍व में कितना है दम।

चीन ने हमेशा से ताइवान को अपने एक प्रांत के रूप में देखा है, जो उससे अलग हो गया है। हालांकि, बीजिंग का पक्‍का विश्‍वास है कि भविष्‍य में ताइवान चीनी का हिस्‍सा बनेगा। उधर, ताइवान की एक बड़ी जनसंख्‍या अपने आपको एक अलग देश के रूप में मानती रही है। चीन और ताइवान के बीच संघर्ष का मूल कारण यही है। वर्ष 2000 में ताइवान की सत्‍ता चेन बियान के हाथों में आई। चेन ताइवान के राष्‍ट्रपति चुने गए। वह ताइवान की स्‍वतंत्रता के बड़े हिमायती थे।

चीन को ताइवान की स्‍वतंत्रता की बात खटक गई। तब से ताइवान और चीन के बीच संबंध तनावपूर्ण है। हालांकि, समय-समय पर ताइवान ने चीन के साथ व्‍यापारिक संबंधों को बेहतर बनाने के प्रयास किए हैं।
वर्ष 1662 से 1661 तक ताइवान नीदरलैंड की कॉलीनी था। इसके बाद चीन में चिंग राजवंश का शासन रहा। वर्ष 1683 से 1895 तक इस वंश का शासन रहा।

1895 में जापान के हाथों चीन की हार के बाद वह जापान का हिस्‍सा बन गया। दूसरे विश्‍व युद्ध में जापान की हार के बाद अमेरिका और ब्रिटेन ने तय किया कि ताइवान को चीन के शासक चैंग कोई शेक को सौंप देना चाहिए। उस वक्‍त चीन के बड़े हिस्‍से में चैंग का कब्‍जा था। चैंग और चीन की कम्‍युनिस्‍ट सेना के बीच हुए सत्‍ता संघर्ष में हार का सामना करना पड़ा।

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

रविवार बंद के कारण ढाबे रहे खाली   

तलविंदर सिंह। बनीखेत प्रशासन द्वारा जारी आदेश पर बनीखेत डलहौजी में ज्यादातर दुकानें बंद रही बंद के कारण पर्यटक भी कम ही नजर आए ।...

चीन के रक्षा मंत्री नेपाल पहुंचे

उज्जवल हिमाचल। डेस्क भारत के विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला की नेपाल की दो दिन की यात्रा के बाद रविवार को चीन के रक्षा मंत्री वेई...

क्रिकेट प्रतियोगिता का हुआ समापन

उज्जवल हिमाचल। बैजनाथ बैजनाथ के इंदिरा गांधी स्टेडियम में स्वामी रामानंद ट्रस्ट के नाम से चल रही क्रिकेट प्रतियोगिता का आज समापन हुआ। समापन समारोह...

भारत ने गंवाई सीरीज…

उज्जवल हिमाचल। नई दिल्ली मेजबान ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज का दूसरा मुकाबला सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जा रहा...

Related News

रविवार बंद के कारण ढाबे रहे खाली   

तलविंदर सिंह। बनीखेत प्रशासन द्वारा जारी आदेश पर बनीखेत डलहौजी में ज्यादातर दुकानें बंद रही बंद के कारण पर्यटक भी कम ही नजर आए ।...

चीन के रक्षा मंत्री नेपाल पहुंचे

उज्जवल हिमाचल। डेस्क भारत के विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला की नेपाल की दो दिन की यात्रा के बाद रविवार को चीन के रक्षा मंत्री वेई...

क्रिकेट प्रतियोगिता का हुआ समापन

उज्जवल हिमाचल। बैजनाथ बैजनाथ के इंदिरा गांधी स्टेडियम में स्वामी रामानंद ट्रस्ट के नाम से चल रही क्रिकेट प्रतियोगिता का आज समापन हुआ। समापन समारोह...

भारत ने गंवाई सीरीज…

उज्जवल हिमाचल। नई दिल्ली मेजबान ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज का दूसरा मुकाबला सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जा रहा...

कोरोना पॉजिटिव युवा ने विशेष व्यवस्थाओं के साथ दी परीक्षा

उज्जवल हिमाचल। हमीरपुर हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग हमीरपुर द्वारा रविवार को मेडिकल लैबोरटरी तकनीशियन ग्रेड-2 के पद के लिए आयोजित लिखित परीक्षा में एक...

Please share your thoughts...

%d bloggers like this: