भारतीय राज्य पैंशनर महासंघ कांगड़ा ईकाई ने इन मांगो को लेकर की बैठक

उज्ज्वल हिमाचल। कांगड़ा

भारतीय राज्य पैंशनर महासंघ कांगड़ा ईकाई (जिला कांगड़ा) की बैठक घुरकड़ी के निजी होटल में आयोजित हुई। बैठक में महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष ब्रह्मानंद विशेष रूप से उपस्थित रहे। बैठक की अध्यक्षता जिला प्रधान किशोरी लाल ने की। इस दौरान कर्मचारियों एवं सेवानिवृत्त कर्मचारियों के डी.ए., मेडिकल बिल भुगतान, देय ग्रैजुएटि, लीव एनकैशमैंट, कम्यूटेशन तथा ‘”ओपीएस ‘”सम्बंधित समस्याओं विचार-विमर्श किया गया। इसमें विभिन्न विभागों से सेवानिवृत्त बंधुओं, एक्स मैन, सेवारत कर्मचारियों ने निर्धारित स्थान पर पहुंच कर अपने सुझाव बैठक के दौरान दिए। सभी ने मिलकर अपनी मांगों को राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारण हेतु मजबूती से रखने के लिए योजनाएं बनाई। इस बैठक में हिमाचल प्रदेश सरकार से कईं मुद्दों को तुरंत हल करवाने के बारे में नीतियां बनाई गई।

इन मुद्दों में 2016-2022 जनवरी के बीच सेवानिवृत्त कर्मचारियों के देयभत्ते, ग्रेजुएटी, कम्यूटेशन, लीव इन कैशमेंट का भुगतान एक ही बारी में करवाने के बारे मे चर्चा की गई। बैठक के दौरान मांग की गई की सभी कर्मचारियों को 12 प्रतिशत डीए व डीए एरियर सरकार द्वारा दिया जाए, पे मैट्रिक्स केसेस कर्मचारियों के जो कार्यालय में लंबित पड़े हैं उन्हें भी हल किया जाए, एचआरटीसी विभाग के कर्मचारियों को वेतन जो हर महीने की पहली तारीख को मिलता था वह भी अब तक नहीं मिला है उसे भी पहले की तरह समय से दिया जाए, बिजली विभाग को भी ओपीएस के अंतर्गत लिया जाए, हरियाणा उच्च न्यायालय के आदेश अनुसार कर्मचारियों की काॅम्यूटेशन जो 15 वर्ष तक काटी जाती है उसे 11 वर्ष 10 महीने तक ही काटा जाए, महासंघ ने मांग की है कि इस अवधि से जिन कर्मचारियों की उक्त कम्यूटेशन काटी है उसे ब्याज सहित वापस किया जाए।

महासंघ विभाग को 4 प्रतिशत डीए भत्ता देने पर सरकार का धन्यवाद कर रहा है महासंघ अपनी मांगो के लिए सरकार से आशा कर रहा है कि उन्हें व उनकी मांगों को सुना जाएगा व उसे पूरा किया जाएगा। अन्यथा महासंघ को तीव्र विरोध का फैसला लेना पड़ेगा। बैठक में सुधीर पठानिया महासचिव आर के धीमान, एस सी धीमान, देव प्रकाश, किशोरी लाल कोषाध्यक्ष, प्रदीप चौधरी, रुमेल कटोच, कुशल कटोच सहित लगभग 25 कर्मचारियों ने भाग लिया।

संवाददाताः अंकित वालिया

हिमाचल प्रदेश की ताजातरीन खबरें देखने के लिए उज्जवल हिमाचल के फेसबुक पेज को फॉलो करें