गर्म कपड़ों पर पड़ी मंहगाई की मार, ऑनलाइन शॉपिंग ने कम की बाजारों की भीड़

Inflation hit hot clothes, online shopping reduced the crowd of markets
स्वेटर से लेकर जुराबों तक सब हुआ महंगा
डेस्क : हिमाचल प्रदेश में जहां एक ओर ठंड के मौसम ने रफ्तार पकड़ी है तो वहीं गर्म कपड़ों की मांग भी बढ़ गई है। लेकिन इस ठंड के मौसम पर मंहगाई की मार पड़ रही है, गर्म कपड़ों की कीमतों में 10-20 फीसदी बढ़ौतरी हुई है। जिसका सीधा असर आम आदमी की जेब पर पड़ा है तो वहीं गर्म कपड़ों के कारोबारियों के अनुसार महंगाई के कारण व्यापार पर भी इसका सीधा प्रभाव पड़ा है। वहीं लोगों में ऑनलाइन शॉपिंग के क्रेज से भी बाजारों से ग्राहकों में कमी आई है।
स्वेटर से लेकर जुराबों तक सब हुआ महंगा
इस साल स्वेटरों से लेकर गर्म जुराबों तक हर गर्म कपड़ों की कीमतों में वृद्धि हुई है। जो स्वेटर पिछले साल 500 रुपये कीमत पर बिक रही थी, वे इस साल बढ़कर 600 रुपये हो गई है। वहीं बीते साल 150 रुपये में बिकने वाली गर्म टोपी इस साल 200 रुपये की बिक रही है।

यह भी पढ़ें : DC ने रवाना किया लोकतंत्र उत्सव वाहन

महंगाई बढ़ने से कमाई पर पड़ा असर
गर्म कपड़ों की कीमतें बढ़ने से सीधा असर कारोबार पर पड़ा है। गर्म कपड़ों को लेकर व्यापारियों ने स्टाक तो मंगवा लिया है, लेकिन ग्राहकों की कमी से कमाई में भी कमी आ गई है।
जीएसटी से कपड़ा कारोबारियों को हो रहा नुकसान
कपड़ों पर जीएसटी के चलते कारोबारियों पर महंगाई की मार पड़ रही है। महंगाई के कारण कारोबारियों की आय सीधे प्रभावित हो रही है।
ऑनलाइन शॉपिंग ने बाजारों में कम किए ग्राहक
आज के दौर में ऑनलाइन शॉपिंग का ज्यादा प्रचलन बढ़ गया है। इससे बाजार में कम ग्राहक आ रहे हैं।

Please share your thoughts...