देव समाज के संरक्षण पर दिया जाएगा विशेष ध्यानः चंद्रशेखर

देव समाज के संरक्षण पर दिया जाएगा विशेष ध्यानः चंद्रशेखर

उज्जवल हिमाचल। मंडी
अंतर्राष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव की सांस्कृतिक संध्याएं इस बार सेरी मंच पर आयोजित की जाएगीं। इस बाबत मंगलवार कोभ्यूली में विपाशा सदन में अंतर्राष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव की आम सभा में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया। महोत्सव की आमसभा की अध्यक्षता करते हुए विधायक चंद्रशेखर ने कहा कि मंडी शिवरात्रि देव समाज का उत्सव है, इस उत्सव में देव समाज के हितों के संरक्षण पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव का सेरी मंच के साथ एक ऐतिहासिक जुड़ाव रहा है। जिसके चलते ही महोत्सव की सांस्कृतिक संध्याओं को सेरी मंच पर आयोजित करने के लिए आम सभा में सभी सदस्यों ने अपनी सहमति जताई है।

उन्होंने कहा कि महोत्सव के दौरान सेरी मंच तथा इसके आसपास बेहतर ट्रेफिक प्लान तैयार करने दिशा निर्देश पुलिस विभाग के अधिकारियों को दिए गए हैं ताकि महोत्सव के दौरान लोगों को किसी भी तरह की दिक्कतें नहीं झेलनी पड़ें। उन्होंने कहा कि देवता तथा देवलुओें, बजंतरियों के रहने तथा ठहरने के लिए पहले से बेहतर व्यवस्थाएं की जाएंगी।

इस बाबत जिला प्रशासन तथा महोत्सव कमेटी को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं। विधायक चंद्रशेखर ने कहा कि मंडी में देव समाज के लिए देव सदन भी निर्मित किया गया है। इस बार शिवरात्रि महोत्सव में देवताओं के ठहरने के लिए देव सदन में भी व्यवस्था की जाएगी।

यह भी पढ़ें : काजा में जल शक्ति विभाग के कर्मी माइनस 20 में पानी करवा रहे मुहैया

इसके अतिरिक्त पड्डल मैदान में भी देवताओं तथा देवलुओं, बजंतरियों के लिए उपयुक्त जगह चिह्न्ति करने के दिशा निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि देव समाज की समस्याओं के निपटारे के लिए उपसमिति गठित की जाएगी, यह उपसमिति वर्ष में दो बार बैठक आयोजित करेगी।

जिसमें देव समाज से संबंधित विभिन्न समस्याओं का स्थायी हल सुनिश्चित किया जाएगा। विधायक चंद्रशेखर ने कहा कि मंडी शिवरात्रि महोत्सव को अंतिम प्रारूप आम जनमानस के सुझावों के आधार पर ही निर्धारित किया जाएगा। इसके लिए आम सभा में नागरिकों के सुझावों को प्रमुखता के आधार पर शामिल किया जाएगा।

विधायक चंद्रशेखर ने कहा कि शिवरात्रि महोत्सव के सफल आयोजन के लिए विभिन्न स्तरों पर कमेटियां गठित की गई हैं। इस के लिए कमेटियों की नियमित बैठकें भी आयोजित करने के दिशा निर्देश दिए गए हैं। विधायक चंद्रशेखर ने कहा कि प्रशासन के साथ-साथ मंडी शहर के नागरिकों को भी मेले के सफल आयोजन के लिए अपना रचनात्मक सहयोग सुनिश्चित करना चाहिए।
उन्होंने कहा कि महोत्सव के दौरान मंडी शहर की स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही मंडी के प्रमुख मंदिरों के आसपास साफ सफाई की उचित व्यवस्था के लिए नागरिकों से भी सहयोग मांगा गया है। विधायक चंद्रशेखर ने कहा कि मंडी जिला के दूरदराज के क्षेत्रों से मंडी शिवरात्रि के लिए आने वाले लोगों के लिए परिवहन की सुविधा भी उपलब्ध करवाने के लिए उचित कदम उठाने के लिए कहा गया है।

विधायक चंद्रशेखर ने कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों में हिमाचल के कलाकारों को विशेष प्राथमिकता दी जाएगी। इसके साथ ही स्मारिका में मंडी शिवरात्रि से जुड़े इतिहास को प्रमुखता से समेटने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि खेलकूद प्रतियोगिताओं में वरिष्ठ नागरिकों के लिए विशेष तौर पर शामिल किया जाएगा।

इसके साथ ही खेलकूद प्रतियोगिताओं का दायरा बढ़ाने पर भी विशेष बल दिया जाएगा। विधायक चंद्रशेखर ने कहा कि मंडी शिवरात्रि महोत्सव में निराश्रित, दिव्यांगों, वृ़द्धजनों के लिए आवाजाही के लिए विशेष व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए गए हैं। इससे पहले उपायुक्त अरिंदम चौधरी ने मुख्यातिथि का स्वागत करते हुए बताया कि गत वर्ष मंडी शिवरात्रि महोत्सव में करीब दो करोड़ 72 लाख की राशि व्यय की गई है।

उन्होंने कहा कि वितीय प्रबंधन को बेहतर किया जाएगा ताकि मंडी शिवरात्रि महोत्सव को भव्य रूप दिया जा सके। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री, एडीसी निवेदिता नेगी, एडीएम अश्वनी कुमार, एसडीएम रितिका, एसी टू डीसी राकेश शर्मा, कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. जय कुमार आजाद, कार्यकारी जिलाध्यक्ष शशि शर्मा, पूर्व प्रत्याशी चंपा ठाकुर, चेतराम ठाकुर, नरेश चौहान, सर्व देवता कमेटी के अध्यक्ष शिवपाल शर्मा, जिला परिषद् अध्यक्ष पाल वर्मा, नगर निगम के महापौर दीपाली, उपमहापौर तथा कांग्रेस के पदाधिकारी आकाश शर्मा, विभिन्न सरकारी तथा गैर सरकारी सदस्य उपस्थित थे।

संवाददाताः उमेश भारद्वाज

हिमाचल प्रदेश की ताजातरीन खबरें देखने के लिए उज्जवल हिमाचल के फेसबुक पेज को फॉलो करें।

 

Please share your thoughts...