100 बीमारियों का एक ही ईलाज, ईवीएम पर कमल निशान

कंगना को जीताईए, एक की जगह दूंगा चार सड़कें

उज्ज्वल हिमाचल। मंडी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने मंडी जिला के करसोग विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत पांगणा गांव में एक जनसभा को संबोधित करते हुए लोगों से यह कहकर वोट की अपील की कि 100 बीमारियों का एक ही ईलाज है और वह ईलाज कमल निशान है। गडकरी यहां भाजपा प्रत्याशी कंगना रनौत के पक्ष में चुनाव प्रचार करने आए हुए थे। उनके साथ पूर्व सीएम एवं नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर और भाजपा प्रत्याशी कंगना रनौत भी उपस्थित रही। गडकरी ने कहा उन्होंने प्रदेश के लिए 20 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट मंजूर कर रखे हैं जिन्हें चुनाव के बाद शुरू किया जाएगा। उन्होंने स्थानीय विधायक की सड़क की मांग पर कहा कि कंगना को जीताकर भेजेंगे तो एक के बजाय चार सड़कें मिलेंगी। गडकरी ने कंगना को राष्ट्रवादी, प्रतिभाशाली और हिमाचल पुत्री बताया और कहा कि कंगना को जीताने के बाद विकास कार्यों को करवाने की गारंटी उनकी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रहेगी।

गडकरी ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में सेब का उत्पादन काफी बड़े स्तर पर होता है लेकिन यहां का सेब विदेशी सेब का मुकाबला नहीं कर पाता। उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया कि नासिक में विदेशी कलम लगाकर अंगूर उत्पादन किया गया तो 1500 करोड़ के अंगूर विदेशों में निर्यात किए गए। उन्होंने कंगना को भरोसा दिलाया कि जब वे चुनकर आएंगी तो वे दो ऐसे प्रोजेक्ट में उनकी मदद करेंगे जिससे यहां के सेब की क्वालिटी बढ़ेगी और यहां कि बागवान डॉलर में अपने सेब को बेच पाएंगे।

गडकरी ने कहा कि जब 2014 में वे मंत्री बने तो उन्होंने आदमी द्वारा आदमी को ढोने की प्रथा को बंद करने का संकल्प लिया। आज उसी का नतीजा है कि देश के डेढ़ करोड़ लोग आज ऑटो रिक्शा चलाकर अपनी आजीविका कमा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भविष्य में अभी और बदलाव लाने हैं और इन बदलावों को लाने में अभी समय लगेगा। गडकरी ने कहा कि यह अभी देश की जनता से ट्रेलर देखा है जबकि पूरी फिल्म दिखाना अभी बाकी है। लेकिन उसके लिए देश की जनता को कांग्रेस की तरह भाजपा को भी लंबे शासन का मौका देना होगा।

संवाददाताः उमेश भारद्वाज

हिमाचल प्रदेश की ताजातरीन खबरें देखने के लिए उज्जवल हिमाचल के फेसबुक पेज को फॉलो करें

Please share your thoughts...