फेक क्रिप्टोकरेंसी, मोटा मुनाफा और लालच… एक गलती से हो जाएगा बैंक खाता खाली

एसआईटी ने 10 आरोपियों के बैंक खाते किए सीज

उज्ज्वल हिमाचल। डेस्क

क्रिप्टोकरेंसी ठगी मामले में पुलिस एसआईटी ने 10 आरोपियों के बैंक खाते सीज कर दिए हैं। एसआईटी की जांच में सामने आया है कि आरोपियों के बैंक खातों से करोड़ों की ट्रांजेक्शन हुई है। इसके बाद यह कार्रवाई की गई है। आरोपियों की चल और अचल संपत्तियों को पहले ही जब्त किया जा चुका है। आरोपियों के खिलाफ आरोपपत्र तैयार हैं। इसी महीने इन्हें अदालत में पेश किया जाना है।

एसआईटी ने चार्जशीट में चार लोगों को मुख्य आरोपी बनाया है। इसमें सुखदेव, सुभाष, हेमराज और अभिषेक शामिल हैं। इन चारों आरोपियों के खिलाफ पहली चार्जशीट अदालत में पेश की जानी है, जबकि अन्य एजेंटों और आरोपियों के खिलाफ अलग से चार्जशीट तैयार की जा रही है। इसे कोर्ट में अलग से पेश किया जाना है। इस मामले में एसआईटी ने अब तक 19 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। 10 आरोपियों की संपत्तियों को जब्त किया गया है।

यह भी पढ़ेंः राज्य सरकार कर्मचारियों के हितों का रखेगी ध्यान: आरएस बाली

अन्य नौ आरोपियों की संपत्तियों और बैंक खातों को भी खंगाला जा रहा है। पुलिस एसआईटी का मानना है कि इस मामले में 40 के करीब और गिरफ्तारियां होनी हैं। कई आरोपी पुलिस की गिरफ्तारी के चलते भूमिगत हो गए हैं, जबकि कई अंतरिम जमानत के चलते हाईकोर्ट के चक्कर काट रहे हैं।

ब्यूरो रिपोर्ट डेस्क

हिमाचल प्रदेश की ताजातरीन खबरें देखने के लिए उज्जवल हिमाचल के फेसबुक पेज को फॉलो करें

Please share your thoughts...